समर्थक/Followers

बुधवार, 23 मई 2018

शिक्षा


अहम वहम हुंकारते ,
गुण शिक्षा अब रोय |
अधिकार धरा पर दोगले ,
फ़र्ज़  परगमन ढोय ||
- अनीता सैनी

1 टिप्पणी:

आदरणीय/आदरणीया, स्नेहिल प्रतिक्रिया के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद,