समर्थक/Followers

शुक्रवार, 25 जनवरी 2019

गणतंत्र दिवस एक पर्व




  1. 1. 

                                  खिली   कलियाँ 
                                लहराया   तिरंगा 
                                  गूँजा  आसमां |


               2.                    
                                 मातृभूमि  की 
                               चाहत का पैगाम 
                                 लबों  पे  नाम |

3 .


                                 गूंज  शौर्य  की 

                               गूंजे  चहुँ  दिशायें 
                                 वीरों  के  नाम   |


4 .
                                 पर्व  आजादी
                             झलकें   स्वाभिमान 
                                 तिरंगा  जान
   |

5 .

                                गर्वित  देश
                              हुंकारे   राजपथ 
                               शौर्य   के  नाम |

                                   - अनीता सैनी 

16 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (27-01-2019) को "गणतन्त्र दिवस एक पर्व" (चर्चा अंक-3229) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    गणतन्त्र दिवस की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  2. सह्रदय आभार आदरणीय चर्चा में मुझे स्थान देने के लिए
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  3. उत्तर
    1. सस्नेह आभार आदरणीया अनुराधा जी
      सादर

      हटाएं
  4. गर्वित देश
    हुंकारता राजपथ
    शौर्य के नाम !
    सुन्दर रचना। गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सह्रदय आभार आदरणीय पुरषोत्तम जी
      सादर

      हटाएं
  5. हमारे सबसे पवन त्यौहार गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामना ..बहुत खूब सखी ,

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रिय सखी कामिनी जी - आप को भी
      सबसे पवन त्यौहार गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामना, सस्नेह आभार आप का
      सादर

      हटाएं
  6. बहुत सुंदर रचना, अनिता दी।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रिय ज्योति बहन - आप को बहुत सा स्नेह | स्नेह आभार बहन टिप्णी के लिए |
      सादर

      हटाएं

आदरणीय/आदरणीया, स्नेहिल प्रतिक्रिया के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद,