समर्थक/Followers

गुरुवार, 2 अगस्त 2018

हाइकु रचना


प्यार  से  पाला 
गिरवी  रख  दिया 
तंग   पेट   ने ।

........


भूख  ने  मोड़ा 
ज़रुरत  ने  तोड़ा 
  न  नूर   छोड़ा  ।
....

मन  बहका
तन  ठोकर  खायें
मैं   सुख  ढूँढूँ |
......

वक़्त ने तोड़ा
हिम्मत ने जोड़ा 
कर्म  संग  दौड़ा ।
......

आँखों  में  नमीं 
आँचल  में   छीपायें 
हँसती   जाये ।

....

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें