बुधवार, 26 फ़रवरी 2020

बीज रोप दे बंजर में... नवगीत



बीज रोप दे बंजर में कुछ,
यों कोई होश नहीं खोता,
अंशुमाली-सी ज्योति मन की,  
क्यों पीड़ा पथ में तू बोता।

मधुर भाव बहता जीवन में,
प्रीत प्रसून फिर नहीं झरता,
विरह वेदना लिखे लेखनी,
यों पाखी प्रेम नहीं मरता।

नभ-नूर बिछुड़ी तारिकाएँ, 
 व्याकुल होकर पुष्कर रोता, 
बीज रोप दे बंजर में कुछ,
यों कोई होश नहीं खोता।

कर्म कसौटी बाँध कमर से,
यों पथिक मक़ाम नहीं तकता,
पात-पात पर सजा समर्पण,
पारिजात क्षिति पर है खिलता।

कोमल भाव महक फूलों-सी,
मानव जीवन में  है  जोता, 
बीज रोप दे बंजर में कुछ,
यों कोई होश नहीं खोता।

©अनीता सैनी 

18 टिप्‍पणियां:

yashoda Agrawal ने कहा…

आपकी लिखी रचना "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" आज बुधवार 26 फरवरी 2020 को साझा की गई है...... "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

बहुत सुन्दर

NITU THAKUR ने कहा…

बहुत सुंदर नवगीत 👌👌👌 बहुत बहुत बधाई 💐💐💐

Anchal Pandey ने कहा…

बहुत सुंदर नबगीत आदरणीया मैम। सादर प्रणाम

Sudha devrani ने कहा…

कर्म कसौटी बाँध कमर से,
यों पथिक मक़ाम नहीं तकता,
पात-पात पर सजा समर्पण,
पारिजात क्षिति पर है खिलता।
वाह!!!
लाजवाब नवगीत....

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी नवगीत प्रस्तुति

दिलबागसिंह विर्क ने कहा…

आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 27.02.2020 को चर्चा मंच पर चर्चा - 3624 में दिया जाएगा। आपकी उपस्थिति मंच की शोभा बढ़ाएगी।

धन्यवाद

दिलबागसिंह विर्क

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार आदरणीया दीदी संध्या दैनिक में मुझे स्थान देने हेतु.
सादर

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार आदरणीय
सादर

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार सखी सुन्दर समीक्षा हेतु.
सादर

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार प्रिय आँचल उत्साहवर्धक समीक्षा हेतु.
सादर

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार आदरणीय दीदी उत्साहवर्धक समीक्षा हेतु.
सादर

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार आदरणीय दीदी सुन्दर समीक्षा हेतु.
सादर

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार आदरणीय सर चर्चामंच पर मेरी रचना को स्थान देने हेतु.
सादर

रेणु ने कहा…

कर्म कसौटी बाँध कमर से,
यों पथिक मक़ाम नहीं तकता,
पात-पात पर सजा समर्पण,
पारिजात क्षिति पर है खिलता।
सुंदर भावों से भरा नवगीत प्रिय अनिता | बहुत - बहुत बधाई और शुभकामनायें

संजय कौशिक विज्ञात ने कहा…

सुंदर अभिव्यक्ति 👌👌👌 बधाई 🌸🌸🌸

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार आदरणीय दीदी सुन्दर समीक्षा हेतु.
सादर

अनीता सैनी ने कहा…

सादर आभार आदरणीय सर उत्साहवर्धन समीक्षा हेतु.
सादर प्रणाम